ये हैं बॉलीवुड के 10 डबल मीनिंग गाने जिन्हें सुनकर घूम जाएगा आपका दिमाग

सेंसर बोर्ड ने भी नहीं दिया था ध्यान। 

शायद आपको वो वक्त याद होगा जब स्कूल में हिंदी की किताब में मौजूद कुछ महान कवियों की कविताओं की हम व्याख्या करते थे। साथ ही हम उसका सन्दर्भ और प्रसंग भी लिखा करते थे। हम एक-एक शब्द का अर्थ खोजते थे। इसके बाद विस्तार से लिखते थे। शुरुआत कुछ इस तरह से होती थी कि, "इस पंक्ति से कवि का आशय है कि...।"

याद आया। अब आज के दौर में बनने वाले गानों के साथ आप ऐसा ही कुछ करना चाहेंगे तो आपका दिमाग घूम जाएगा। जैसे "दिल डिस्को डिस्को बोले सारी रात सजना" गाना, अब इसका क्या मतलब है यार। ऐसा लगता है मानो लिखने वाले ने पहले दो पैग लगाए। इसके बाद जो मन में आया वो लिख दिया। इसके उलट कुछ गाने ऐसे भी होते हैं जिनका अर्थ निकाला भी जाए तो इतना गंदा निकलेगा कि हम किसी को बता भी नहीं पाएंगे। 

तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरा मामला।