हनुमान जी की पूजा करते समय महिलाएं ध्यान रखें ये दस बातें

महिलाओं को नहीं करना चाहिए ऐसा।

ऐसा कहा जाता है कि हनुमान सारे संकटों को हरने वाले हैं। उन्हें संकटमोचन भी कहा जाता है। तभी तो जब त्रेतायुग में भगवान राम के रास्ते में विशाल समुद्र एक संकट के तौर पर सामने आया तो हनुमान ने उसे पार करने का हल निकाला। इतना ही नहीं जब द्वापर युग में कुरुक्षेत्र में अर्जुन को जरूरत पड़ी तो हनुमान रथ के झंडे पर सवार हुए और पांडवों को संकट से उबारा। 

हनुमान खुद एक सच्चे भक्त हैं। ऐसे में उन्हें सच्ची भक्ति करने वाला मनुष्य भी पसंद है। फिर चाहे स्त्री हो या पुरुष। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है। बहरहाल पूजा की एक पद्धति होती है। कुछ नियम होते हैं। इसका ध्यान सभी को रखना होता है। 

यह बात तो सर्वविदित है कि हनुमान अखण्ड ब्रम्हचारी हैं। ऐसे में महिलाओं को यदि हनुमान की पूजा करना हो तो कुछ नियम बनाए गए हैं। आज हम आपके साथ ऐसे ही कुछ नियमों का साझा करने वाले हैं। 

तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरा मामला।