न्यूज़ Digest
Ritu Porwal 23 Aug, 2018 08:08 68554 8

नौकरी छोड़ गांव के बच्चों को मॉडर्न बना रहा है ये 24 साल का मैकेनिकल इंजीनियर

इनोवेशन लैब के जरिए बदली कई जिंदगियां।

जहां एक ओर युवाओं का बड़ा हिस्सा नशे और सोशल मीडिया की गिरफ्त में फंस रहा है, वहीं दूसरी ओर कुछ युवा अपना समय और एनर्जी देश की भलाई में लगा रहे हैं। 24 साल के समीर कुमार मिश्रा उन्हीं चुनिंदा लोगों में से हैं। पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर रहे समीर आज उड़ीसा के एक गांव के मसीहा बन चुके हैं।

जमी-जमाई नौकरी छोड़कर गांव के बच्चों के लिए इनोवेशन लैब बनाने और चलाने का उनका फैसला वाकई बेहद प्रेरणादायी है। कहां से शुरू हुई इस इनोवेशन लैब की कहानी और ये बच्चों को किस तरह मदद कर रही है, चलिए जानते हैं।