उत्तराखंड के इस घाट पर रात में भी होता है दाह संस्कार, जुड़े हैं और भी कई रोचक तथ्य 

भगवान शिव करते हैं यहां निवास।  

मणिकर्णिका घाट के हिन्दू रीति-रिवाजों के अनुसार यदि रात में किसी की मृत्यु होती है तो उसका दाह संस्कार अगले दिन सुबह ही किया जाता है। परंतु वाराणसी का प्रसिद्ध मणिकर्णिका घाट रात में भी दाह-संस्कार किये जाने के लिए मशहूर है। 

सिर्फ मणिकर्णिका घाट ही नहीं, अल्मोड़ा के घाट में भी मणिकर्णिका घाट की तरह ही रात में भी दाह-संस्कार की परंपरा है। यह घाट अल्मोड़ा - लमगड़ा मार्ग स्थित विश्वनाथ मंदिर पर है।  

इस तथ्य के अलावा भी अल्मोड़ा घाट से कई तथ्य जुड़े हैं।  आइए जानते हैं, इन तथ्यों के बारे में।