Religion
Satish18 Nov, 2018

राम मंदिर बनेगा, नहीं बनेगा, कब बनेगा? इन सवालों से पहले जानें राम के बारे में रोचक तथ्य

यकीन मानिए आपको नहीं होगा पता। 

अयोध्या के राजा दशरथ की तीन रानियों में से एक रानी कौशल्या की कोख से जन्में पुत्र जिनका नाम राम रखा गया। राम अपने सभी भाइयों में बड़े थे। हिन्दू धर्म में ये मान्यता है कि भगवान विष्णु ने जग के कल्याण के लिए कुल 10 अवतार लिए थे, उनमें से राम का सातवां अवतार माना गया है। भगवान विष्णु के सभी अवतारों में से राम का अवतार सबसे लोकप्रिय है, जिनकी पूजा सबसे ज्यादा होती है।

महर्षि वाल्मीकि ने राम के विषय में बहुत कथाएं लिखी, जिससे कलयुग के लोगों को राम के बारे जानने में मदद मिलती है। इसके अलावा तुलसीदास ने भी बहुत सी कविताओं के माध्यम से लोगों तक राम के व्यक्तित्व को पहुँचाया है। तुलसीदास रचित रामचरितमानस तो राम पर लिखी एक अद्भुत किताब मानी जाती है।

राम की सौतेली माता कैकयी ने मंथरा के कहने पर राजा दशरथ से राम के लिए 14 वर्षों का वनवास और अपने पुत्र भरत के लिए अयोध्या का राज सिंहासन माँग लिया था। दशरथ पूर्व में दिए अपने वचन की वजह से इसको ठुकरा नहीं सकते थे, वहीं अपने कलेजे के टुकड़े राम को खुद से 14 साल के लिए अलग नहीं करना चाहते थे। ऐसे में राम को पिता की दुविधा का पता चला और उन्होंने वनवास जाने की तैयारी शुरू कर दी। राम की पत्नी सीता और छोटे भाई लक्ष्मण भी राम के साथ जिद कर के वनवास गए।

राम के बारे में वनवास के दौरान घटित और वनवास से लौटने की कई बातों का विवरण अलग-अलग ग्रंथों में भिन्न -भिन्न है। आइए उसके बारे में विस्तार से जानते हैं।