सावधान! 'गले के कैंसर' की ओर इशारा करते हैं ये लक्षण

डॉक्टर से लें सलाह। 

कैंसर वो बीमारी है, जिसमें कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती हैं। शरीर में फैलने लगती हैं। वैसे तो कैंसर कई प्रकार का होता है। इन्हीं में से एक 'गले का कैंसर' भी होता है। 'गले का कैंसर' वॉइस बॉक्स, वोकल कॉर्ड्स और गले के अन्य हिस्सों जैसे टॉन्सिल्स और oropharynx आदि को प्रभावित करता है।

'गले के कैंसर' से अन्य तरह के कैंसर की तुलना में कम लोग ग्रसित होते हैं। कुल जनसंख्या के तकरीबन 1% लोग ही गले के कैंसर की चपेट में आते हैं। गले के कैंसर को मुख्य रूप से दो कैटेगरीज में बांटा गया है, जिनमें Pharyngeal cancer और Laryngeal कैंसर का नाम शामिल हैं। 

गले के कैंसर के जितने भी प्रकार होते हैं, वो इन्हीं दो कैटेगरी के अंतर्गत आते हैं। महिलाओं की तुलना में पुरुषों में गले का कैंसर होने की अधिक आशंका होती है। स्मोकिंग, शराब का सेवन, विटामिन ए की कमी और डेंटल हाइजीन खराब होना जैसी बातें गले के कैंसर का कारण बनती हैं। 

वैसे गले के कैंसर को शुरुआती स्टेज में पहचान पाना मुश्किल है। आमतौर पर गले के कैंसर में निम्नलिखित लक्षण दिखाई देते हैं। आज हम आपसे उन्हीं के बारे में बात करेंगे।