किसान की बेटी ने किया कमाल, तोड़ दिया मिल्खा और पीटी उषा का रिकॉर्ड

बेहद इंस्पायरिंग है इनकी रियल लाइफ स्टोरी।

गोल्ड जीतकर इतिहास रचने वाली 18 साल की हिमा दास का नाम अब करोड़ों भारतीयों की ज़ुबान पर चढ़ चुका है। ऐसा होना लाज़मी भी है, हिमा आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय जो हैं। उन्होंने ये सफलता रोमानिया की एंट्रिया और अमेरिका की टेलर को हराकर हासिल की है।

वैसे तो हिमा की उपलब्धि के बारे में जानकर आप भी काफी खुश होंगे, लेकिन उनके संघर्ष की कहानी जानने के बाद आपका सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा। इस मुकाम तक पहुंचने के लिए हिमा को किन-किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा और किस तरह वे इतिहास रचने में कामयाब हुईं आइये जानते हैं।