न्यूज़ Digest
Vishal Dubey 30 Oct, 2018 10:15 70712 10

चंडीगढ़ के सिपाही ने ड्यूटी के साथ-साथ 7 साल में लगा डाले 1 लाख से ज्यादा पेड़

सोनीपत के देवेन्द्र सूरा ने वृक्षारोपण अभियान में खर्च किए 30 लाख से अधिक रुपए। 

टीवी, रेडियो, अखबार या मोबाइल। जिन माध्यमों पर आप एक्टिव रहते हैं उन पर वृक्षारोपण के बारे में सुनते ही रहते होंगे। जब से ग्लोबल वार्मिंग का संकट विश्व पर मंडराना शुरू हुआ है लोग पेड़ लगाने के प्रति जागरूक होने लगे हैं। लेकिन इन बातों को जमीनी स्तर पर उतारना बहुत कठिन है। जब अपने देश में नेता-मंत्री सेल्फी खिंचवाते हुए पौधा लगातें हैं तो लगता है एक मुहिम चल रही है जिससे आगे जाकर पर्यावरण को लाभ पहुंचेगा।

लेकिन हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं होता है। दरअसल इन अभियानों के तहत जो भी पौधे लगाए जाते हैं उनकी देखभाल के लिए कोई कदम नहीं उठाया जाता। हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार ने करोड़ों की संख्या में पौधे लगाए थे। कहा गया था कि इन पौधों का ख्याल जीपीएस टेक्नोलॉजी के माध्यम से रखा जाएगा। लेकिन सारी बातें जुमले में तब्दील हो गईं। उन पौधों में से 30 प्रतिशत पौधे ही विकास कर पाए बाकी सूख के बेकार हो गए।

देश में कई ऐसे भी लोग हैं जो इन चीजों को लेकर गंभीरता से सोचते हैं। हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले देवेन्द्र सूरा जो चंडीगढ़ पुलिस में सिपाही के पद पर काम करते हैं, ने एक बहुत ही अच्छी मुहिम चलाई है जिसके माध्यम से वो वृक्षारोपण के साथ-साथ उन पेड़ों का ख्याल रखने का इंतजाम भी करते हैं।

जब दुनिया डाइजेस्ट की टीम ने देवेन्द्र से बात की तो पता चला कि वो अब तक 1 लाख से ज्यादा पेड़ लगा चुके हैं और इस अभियान को और बड़े स्तर पर पहुँचाने में लगे हुए हैं।आइए जानते हैं कि देवेन्द्र इस अभियान को आगे कैसे ले जा रहे हैं और अभी तक के सफर में किन कठिनाइयों का उन्हें सामना करना पड़ा है।