जब द्रौपदी ने सत्यभामा को बताए खुशहाल वैवाहिक जीवन के ये खास रहस्य 

श्रीकृष्ण के साथ पहुंची थीं सत्यभामा। 

Advertisement

'महाभारत' के बारे में कुछ-कुछ बातें तो सभी लोग जानते हैं, लेकिन पूरी कहानी अधिकांश को नहीं पता है। ज्यादातर लोगों के लिए 'महाभारत', केवल दो भाइयों में संपत्ति को लेकर हुआ विवाद मात्र है। जबकि इसी बहाने श्रीकृष्ण ने दुनिया को कल्याण के कई मार्ग बताए। यह और बात है कि उन पर कोई ध्यान नहीं देता। 

वैसे 'महाभारत' में कुछ और भी किरदार थे जिन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। हम बात कर रहे हैं द्रौपदी की। लोगों के लिए द्रौपदी केवल पांच पतियों वाली स्त्री थीं जबकि द्रौपदी का विवाह केवल अर्जुन के साथ हुआ था। पांडवों की मां ने ऐसी आज्ञा दी थी, इसलिए द्रौपदी को पांचों भाइयों की पत्नी बनना पड़ा। 

हालांकि पुराणों के मुताबिक ऋषि वेद व्यास ने सुखी वैवाहिक जीवन के लिए द्रौपदी को कुछ शर्तों का पालन करने को कहा था। इन्हीं के बूते आगे चलकर द्रौपदी बेहतर पत्नी बन पाई। यही तमाम बातें द्रौपदी ने सत्यभामा के साथ भी साझा की। आज बात उन्हीं चंद बातों की। 

Advertisement