परीक्षा की कॉपी में बच्चों ने लिखे ऐसे जवाब, पढ़ते-पढ़ते लोटपोट हो जाएंगे आप

बच्चों के कारनामे देखकर टीचर्स भी होंगे हैरान।

बचपन में अक्सर ऐसा होता था कि हम परीक्षा में कुछ पढ़कर नहीं जाते थे। बावजूद इसके हमें एग्जाम हॉल में बैठना पड़ता था क्योंकि टीचर्स 3 घंटे के पहले तो बाहर नहीं जाने देते थे। ऐसे में हमारे पास ज्यादा विकल्प नहीं होते थे। अब या तो हम कमरे की दीवारे देखते रहते थे या फिर कुछ और जुगाड़ में लग जाते थे। 

लेकिन कई बार इतने 'हिटलर' टीचर हमारा एग्जाम ले रहे होते थे कि हमारी नजरें उठाने की भी हिम्मत नहीं हो पाती थी। ऐसे में कागज को भरने के अलावा हमारे पास कोई ऑप्शन ही नहीं बचता था। ऐसी ही किसी मजबूरी में शायद ये बेचारे बच्चे भी रहे होंगे जो कागज भरने के चक्कर में ऐसे कारनामे कर गुजरे, जिन्होंने टीचर को भी हँसने पर मजबूर कर दिया होगा।