अगर आपको भी है अपने सिंगल होने पर फक्र, तो ये शायरी पढ़कर चौड़ा हो जाएगा आपका सीना

वैलेंटाइन वीक स्पेशल।

अगर एक 50 प्रतिशत पानी से भरे हुए गिलास को टेबल पर रखा जाए तो आशावादी (Optimist) व्यक्ति को वो गिलास आधा भरा हुआ नजर आता है, निराशावादी (Pessimist) को गिलास आधा खाली नजर आता है, यथार्थवादी (Realist) व्यक्ति को सिर्फ गिलास ही नजर आता है।

प्यार का हफ्ता शुरू हो चुका है। गिलास की तरह ही इस हफ्ते और वैलेंटाइंस डे को देखने का लोगों का नजरिया भी अलग-अलग होता है। सच्चा प्यार करने वालों के लिए ये करवाचौथ की तरह नजर आता है। कमिटेड लड़कों के लिए ये इंटिमेट होने के ऑफिशियल मौके की तरह नजर आता है। लड़कियों के लिए ये सजने और हफ्ते भर गिफ्ट लेने के मौके की तरह नजर आता है। बजरंग दल और समाज के रक्षकों के लिए ये हीरो बनने के दिन की तरह और बेचारे सिंगल्स के लिए ये जख्मों पर नमक छिड़कने वाले दिन की तरह नजर आता है। इन सभी लोगों में सबसे ज्यादा तकलीफ में सिंगल्स ही होते हैं, इसलिए मैं अपने 'जख्मी' सिंगल दोस्तों के लिए कुछ शायरी लेकर आया हूँ। इन्हें पढ़कर वो काफी अपनापन महसूस कर सकेंगे।