यहीं हुआ करती थी रावण की लंका, आज भी दिखाई देते हैं सबूत 

यहाँ आप ले सकते हैं 'रामायण काल' का अनुभव। 

भारत में लोगों की आस्था, मर्यादापुरुषोत्तम भगवान राम में बहुत गहरी है। 'रामायण' वाल्मीकि द्वारा लिखा गया संस्कृत का एक अतुल्य महाकाव्य है। इसमें 24,000 श्लोकों द्वारा रघुवंश के राजा श्रीराम की कथा कही गयी है। कभी-कभी इसे कुछ लोगों द्वारा एक काल्पनिक कथा भी कहा जाता है। लेकिन श्रीलंका में आज भी ऐसी कई जगहें मौजूद हैं, जो इस बात को प्रमाणित करतीं हैं कि 'रामायण' में लिखी हर बात सच है। 

आइये जानते हैं इन जगहों के बारे में जहाँ पर आप 'रामायण काल' में जाने जैसा एक्सपीरियंस ले सकते हैं।