न्यूज़ Digest
Satish 09 Jan, 2019 10:09 72634 51

इन 50 तस्वीरों में देखिए स्वतंत्र भारत के पहले कुम्भ की झलकियां

स्वतंत्र भारत का पहला कुम्भ।

भारत में कुम्भ मेले का हिन्दुओं में बहुत अधिक महत्त्व है। पूरे भारत में चार स्थानों पर कुम्भ मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें देश के हर हिस्से से हिन्दू संत समाज के लोग और आमजन इकठ्ठा होकर नदी में स्नान करते हैं। इसके पीछे की मान्यता ये है कि इससे सारे पाप धुल जाते हैं और शरीर भी स्वच्छ हो जाता है।
भारत में चार जगह पर कुम्भ मेले का भव्य आयोजन किया जाता है, प्रयागराज (इलाहबाद), हरिद्वार, नासिक और उज्जैन। इन चारों जगहों पर बारह साल में एक बार कुम्भ का आयोजन हो पाता है।

आजादी के बाद का पहला कुम्भ मेला 1954 में इलाहाबाद में लगा था। आपका उस वक्त जन्म भी नहीं हुआ होगा, फिर उसे देखना तो दूर की बात है। खैर, आप इसकी चिंता न करें क्योंकि हम आपके लिए खास, उस मेले की चुनिंदा तस्वीरें लेकर आए हैं। ताकि आपको आजाद भारत के पहले कुम्भ मेले की कुछ झलकियाँ मिल जाएं। तो फिर देर किस बात की, आइए आप और हम चलते हैं इतिहास के झरोखे में और देखते हैं कुछ खास।