'कॉमेडी किंग' कपिल शर्मा का फर्श से अर्श तक का सफर

मामूली आर्टिस्ट से सितारा बनने तक की कहानी।

Advertisement

कॉमेडी का सरताज कहलाने वाला ये लड़का कभी पंजाब के एक गांव में पीसीओ पर काम करता था, ताकि अपना खर्च उठा सके। पिता को कैंसर होने के बाद जब घर की आर्थिक स्थिति डगमगाने लगी तो घर का खर्च उठाने के लिए बच्चों को ट्यूशन देने लगा। कभी-कभी यूँ ही शौकिया तौर पर अपने कॉमेडी का टैलेंट दिखाने के लिए आसपास के किसी गांव में चल रहे कार्यक्रम में चला जाता और लोगों को हंसाने के बदले वहां से कुछ मिल जाता तो उसे अपनी खुशकिस्मती मान खुशी-खुशी घर लौट आता।

लेकिन उसे क्या पता था कि आने वाले कुछ सालों में उसकी किस्मत बदलने वाली है और आज लोगों के बीच हंसी बांटने वाला ये लड़का कल का कॉमेडी किंग बनने वाला है। 26 साल की उम्र में अपनी बाईं जेब में सपने और दाईं जेब में खूब सारा टैलेंट भरकर मुंबई आए कपिल का सफर बहुत रोमांचक रहा। उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा वहीं कई बार फैंस ने उनका ऐसा साथ दिया कि किस्मत ने भी कपिल को अपनी पलकों पर बैठा लिया।

आज हमारे कॉमेडी किंग कपिल बुरे दौर से गुजर रहे हैं लेकिन दर्शकों की उम्मीदें आज भी उनसे बंधी हुई हैं। आज बात कपिल के फर्श से अर्श तक के सफर को लेकर। 

Advertisement