आज के युवाओं ने नहीं देखा है विज्ञापनों का ऐसा दौर, वो समय तो बेहद अलग हुआ करता था

पुराने समय में आज फिर से झाँक लीजिए। 

Advertisement

विज्ञापनों की अपनी एक अलग ही दुनिया होती है। कई बार तो विज्ञापनों की यह दुनिया ही अपने आप में इतनी मनोरंजक हो जाती है कि इसमें से बाहर निकलने का मन ही नहीं करता है। उदाहरण के लिए टाटा स्काई की प्रचलित एड सीरीज या कैडबरी के टीवी विज्ञापन देख लीजिए। आज के समय में विज्ञापन मुख्य रूप से वीडियो के रूप में टेलीविजन और सोशल मीडिया में दिखाए जाते हैं। पर आज से कई साल पहले विज्ञापनों के शुरुआती दौर में ऐसा नहीं था। हर जगह प्रिंट एड का ही बोलबाला था। सिंगल पेज में विज्ञापन का मतलब क्रिएटिविटी का अलग ही लेवल। ऐसे में जब विज्ञापन लगते थे तो उनकी बात ही अलग हुआ करती थी। 

आप भले ही वह दौर न देख पाए हों, पर हम आज आपके लिए उस दौर के कुछ चुनिंदा विज्ञापनों का जखीरा जरूर लेकर आए हैं। इन्हें देखकर आप भी उस पुराने समय को जी उठेंगे। तो फिर आइए बिना देर किए इन विज्ञापनों पर एक नज़र डालते हैं।

Advertisement