Life
Mitali Goyal13 Oct, 2018

मन के एहसासों को बेहद खूबसूरती से बयां करती हैं ये कविताएं

मन की बात बेझिझक बोलिये। 

ज़िंदगी अपने हर पल में खूबसूरती संजोए हुए है। ऐसे में जब कोई बात किसी कवि के दिल को छू लेती है, फिर वो बात कविता का रूप ले लेती है। बचपन से लेकर बूढ़े हो जाने तक कविताएं हमारे साथ रहती हैं। बचपन में हम बच्चों वाली कविताओं को पसंद करते हैं। युवावस्था में प्रेम-बिछड़न और दर्द वाली कविताओं का दौर चलता है जबकि परिपक्वता के दौर में हम व्यंंग्य, देशभक्ति, सामाजिक मुद्दों की बात करती कविताएं पसंद करने लगते हैं। और वृद्धावस्था में एक बार फिर हम जिंदगी की मासूमियत को दर्शाती कविताओं की ओर लौट जाते हैं। या यूं कहिए कि बचपन की गलियाें में गोते खाने लगते हैं। 

कुल मिलाकर कविताओं के साथ हमारा रिश्ता ताउम्र बना रहता है। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ चुनिंदा कवियों की चुनिंदा रचनाएं। निश्चित रूप से यह प्रयोग आपको खूब पसंद आएगा। तो बिना देर किये कुमार विश्वास की कविता से कीजिये शुरुआत।