सूर्य देव को ऐसे कीजिए प्रसन्न और बन जाइए धनवान

सूर्य को जल चढ़ाने के 10 खास नियम।

सूर्य देव कलियुग के साक्षात देवता माने गए हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य ग्रहों के राजा हैं। वे ही मनुष्य के मान-सम्मान के कारक ग्रह भी हैं। जिन लोगों की कुंडली में ये ग्रह शुभ स्थिति में होता है, उन्हें बड़ी सफलताएं हासिल होती हैं। वहीं कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो कड़ी मेहनत करने के बाद भी मनचाही सफलता नहीं मिल पाती।

सूर्य देव को नियमित रूप से जल चढ़ाने पर कुंडली के सभी दोष दूर होते हैं। साथ ही इंसान धनवान भी बन सकता है। लेकिन जल अर्पित करते समय कुछ गलतियां कर दी जाए तो सूर्य देव प्रसन्न होने की जगह नाराज भी हो सकते हैं। अगर आप भी रोज सूर्य देव को जल चढ़ाते हैं तो इस स्टोरी को अंत तक जरूर पढ़ें। इसमें हम बताने वाले हैं सूर्य को जल चढ़ाने के 10 खास नियम, जिनका पालन हर किसी को करना चाहिए।

ज़रा ध्यान से पढ़िएगा।