समुद्र मंथन का साक्षी रहा है ये पर्वत, आज भी दिखाई देते हैं निशान 

जानिये क्यों है मंदार पर्वत का सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व।

हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार जब समुद्र मंथन हुआ था तब उसमें से कई महत्वपूर्ण वस्तुएं बाहर निकली थीं। इस समुद्र मंथन को संपन्न करने के लिए शेषनाग और एक पहाड़ का सहारा लेना पड़ा। जिस पहाड़ को समुद्र मंथन में प्रयोग किये जाने की बात कही जाती है, वहाँ समुद्र मंथन के निशान आज भी मौजूद हैं।

इस पर्वत का नाम मंदार है और ये बिहार के बांका ज़िले में स्थित है। आइये जानें इस पर्वत से जुड़ी कुछ रोचक बातें।