• Home
  • लाइफ़
  • लाइफ़
  • इन बातों से चलता है पता कि मैच्योरिटी के मामले में आपका पार्टनर है 'जीरो'

इन बातों से चलता है पता कि मैच्योरिटी के मामले में आपका पार्टनर है 'जीरो'

लंबी नहीं होती ऐसी रिलेशनशिप की उम्र।

Advertisement

'तुम कितने क्यूट हो' से 'तुम कब तक बच्चे रहोगे' तक आने में बहुत ज्यादा समय नहीं लगता है। लड़कियों में बचपना होने की बात तो फिर भी पचाई जा सकती है। लेकिन लड़कों की बात हो तो मामला गड़बड़ा जाता है। डेटिंग की शुरुआत में आपको अपने मेल पार्टनर की क्यूट हरकतें अच्छी लग सकती हैं। मगर समय गुजरने के साथ ही उनका यह बचपना जी का जंजाल बन जाता है। 

आप रिश्ते में तो आ जाते हैं। लेकिन असली जंग उसे निभाने की होती है। रिश्ते को चलाने के लिए मैच्योरिटी बहुत जरूरी होती है। अक्सर ही ब्रेकअप के बाद सुनने को मिलता है कि 'मैं उस समय मैच्योर नहीं था ना।' छोटे उम्र के रिश्ते, बचपने की वजह से ही टूटते हैं क्योंकि बचपने में हम किसी भी चीज को गंभीरता से नहीं लेते हैं। 

जिस व्यक्ति के अंदर बचपना हो उसके साथ रिश्ता निभाना बहुत मुश्किल हो सकता है। किन हरकतों से पता चलता है कि सामने वाला मैच्योर है? यही हम आपको इस स्टोरी के जरिए बताने वाले हैं।

Advertisement