Mitali Goyal 07 Jan, 2017

पौराणिक काल में गाय ने दिया था मनुष्य के बच्चे को जन्म 

गाय के गर्भ में रहे इस बच्चे का नाम है 'गौकर्ण'। 

Advertisement

ये कथा पौराणिक दिव्य काल की है। तब उस काल में तुंगभद्रा नदी के किनारे एक 'रम्य' नगर था। उस नगर में आत्मदेव नाम का ब्राह्मण रहता था। आत्मदेव की पत्नी बहुत सुन्दर लेकिन हठी थी। आत्मदेव की कोई संतान नहीं थी। जब आत्मदेव और उसकी पत्नी की यौवन उम्र ढलने लगी और उनकी कोई संतान न हुई तो आत्मदेव दुखी होकर घर से चल दिए। चलते चलते वह थक गए और एक तालाब के किनारे जा कर बैठ गए।

उसी समय तालाब के पास एक सन्यासी आये और आत्मदेव को दुखी देख कर बोले...      

Advertisement