हमारे बीच नहीं रहा हिंदी फिल्मों का यह अंग्रेज कलाकार, पहली बार लिया था सचिन तेंदुलकर का इंटरव्यू

300 से ज्यादा फिल्मों में किया था काम।

Advertisement

सीनियर एक्टर टॉम ऑल्टर एक ऐसे कलाकार थे जिन्हें हिंदी फिल्मों में 'गोरे साहब' (अंग्रेज) के रूप में ही देखा गया। यह और बात है कि वो दिल से पूरी तरह हिंदुस्तानी ही थे। स्किन कैंसर से जूझ रहे ऑल्टर ने 67 साल की उम्र में शुक्रवार (29 सितंबर 17) को दुनिया से विदा ले ली। 

आज हम आपके लिए उन्हीं की ज़िंदगी से जुड़ी कुछ बातें लेकर आए हैं, जिनके बारे में आप शायद ही कुछ जानते होंगे। तकरीबन 40 साल पहले ऑल्टर ने दिलीप कुमार से हुई उनकी पहली मुलाकात में पूछा था कि,"बेहतरीन एक्टर होने का राज क्या है?' दिलीप साहब ने जवाब में कहा था,'शेर-ओ-शायरी'। 

टॉम ने खुद एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था। उन्होंने कहा था कि,"मैं इस जवाब से हैरत में था लेकिन मैं यह जानता था कि जितने भी महान कलाकार हैं, उनकी ज़िंदगी का हिस्सा यही है। और मैं इन तमाम चीजों में बहुत खुशकिस्मत हूँ।" 

टॉम भले ही अँगरेज़ दिखते थे लेकिन उर्दू और हिंदी के बड़े जानकर थे। कम ही लोग जानते होंगे कि पद्मश्री से नवाज़े जा चुके टॉम, उर्दू के उम्दा शायर भी थे। तो जनाब, इस दिवंगत सीनियर एक्टर से जुड़ी ऐसी ही कुछ बातों को जानने के लिए पढ़िए यह स्टोरी।

Advertisement