लाइफ़
Satish 20 Dec, 2018 13:55 72278 26
  • Home
  • लाइफ़
  • लाइफ़
  • योग के इन आसनों को सीख लीजिए, डॉक्टर को गुड बाय कह देंगे 

योग के इन आसनों को सीख लीजिए, डॉक्टर को गुड बाय कह देंगे 

जिम पर पैसा बहाने वालों के लिए ख़ास पेशकश। 

भारत देश ऋषि-मुनिओं का देश रहा है। यहाँ के ऋषि-मुनि तपस्या और त्याग को अपने जीवन का मूलमंत्र मानते थे। इसके साथ ही, वे योग को अपने जीवन का महत्वपूर्ण अंग मानते हुए इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करने की सलाह दिया करते थे। भारत में योग के जनक योगगुरु 'पतंजलि' माने जाते हैं, जो विश्व का प्रथम योग गुरु भी कहलाए।

योग के प्रचार-प्रसार में समकालीन भारत में एक नाम प्रमुखता से लिया जाता है, वो नाम है - 'बाबा रामदेव'। बाबा रामदेव ने ही आचार्य पतंजलि के नाम पर एक योगपीठ की स्थापना की और योग का प्रचार-प्रसार दुनिया भर में किया। उनके और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों की वजह से 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाता है। एक और नाम है, जिसका जिक्र किए बिना कहानी अधूरी रह जाएगी। वो है, दिवंगत राजीव दीक्षित। इनके अथक और समर्पित भाव से दिए गए आख्यानों से ही योगगुरु रामदेव के प्रचार-प्रसार में सर्वाधिक मदद मिली।

योगा का काम है इंसान के शरीर को स्वस्थ्य रखना, इसी से जुड़ी बात और आयुर्वेद के कुछ घरेलू नियम जिसका खूब प्रचार-प्रसार राजीव दीक्षित ने रामदेव के मंच से किया। आयुर्वेद से जुड़े उनके अमूल्य योगदान पर विस्तार से किसी अन्य कहानी में बात होगी। आज बात योग की।

आज हम आपको योग के कुछ महत्वपूर्ण आसनों के बारे में बताएंगे, जिसे आप अपनी दिनचर्या में शामिल करके खुद को निरोग रख सकेंगे। तो आइये आप और हम चलते हैं, योगासनों के संसार में और नये-नये आसनों के बारे में जानते हैं।