इन 5 गांवों की वजह से हुआ था महाभारत का युद्ध, अब ऐसा है उनका हाल

इनकी बदौलत टल सकता था युद्ध।

लालच, स्त्री का अपमान, जैसी जैसी कई चीजों के परिणाम स्वरूप महाभारत का युद्ध हुआ। जमीन या राज्य का बंटवारा भी इन्हीं कारणों में से एक था। जमीन के लालच में कौरवों ने कई षड्यंत्र रचे। पांडवों को मारने का प्रयास भी किया और तो और भरी सभा में अपनी कुलवधू द्रोपदी का चीरहरण करके उन्हें अपमानित भी किया।

इस सब के बावजूद युधिष्ठिर युद्ध नहीं चाहते थे, क्योंकि वे जानते थे कि युद्ध से उनका पूरा वंश तबाह हो जाएगा। इसलिए उन्होंने मात्र 5 गांवों के बदले युद्ध ना करने का प्रस्ताव रखा था। अगर दुर्योधन उस प्रस्ताव को स्वीकार कर लेता तो इतिहास का सबसे बड़ा युद्ध टल जाता।

आखिर क्या है पूरा किस्सा? कौन-से थे वे 5 गांव और आज वे कहां मौजूद है? आइये जानते हैं।