आओ! इस गणतंत्र दिवस मिलकर करें अपने संविधान पर गर्व

देश की रीढ़ है संविधान। 

हर साल की तरह इस साल भी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा। 26 जनवरी 1950 को देश का संविधान लागू हुआ था और यह स्वतंत्र भारत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और गर्व का दिन था। इस दिन हमारा देश स्वतंत्र भारत से गणतंत्र भारत बन गया था। किसी भी देश का संविधान उस धर्म ग्रन्थ की तरह होता है, जो किसी व्यक्ति को सही राह पर चलने के दिशा-निर्देश देता है। किसी भी देश के संविधान को देखकर ही समझा जा सकता है कि वह देश किस दिशा में और किस तरह से आगे बढ़ना चाहता है। 

हम भारत के संविधान की बात करें तो ये कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि आज देश जहाँ भी है, उसमें देश के संविधान का बहुत बड़ा योगदान है। रोजमर्रा के जीवन में ऐसी कई सुविधाएं हैं, जो हमें हमारे संविधान के बदौलत नसीब हुई है। इन सुविधाओं के अलावा भी देश के संविधान से जुड़ी ऐसी कई विशेषताएं हैं, जो इसे अन्य देशों के संविधान से अलग बनाती हैं और इसे हमारे लिए इतना ख़ास बनाती हैं।

हमारे संविधान से जुड़ी ऐसी कई बाते हैं, जिनके लिए हमें अपने संविधान पर गर्व होना चाहिए। तो आइए गौर करते हैं, ऐसे ही कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर।